कौन सा साइटमैप ब्लॉगर ब्लॉग में उपयोग करना ठीक है Atom या XML Sitemap?

  • Tiru 
  • 6 min read
साइटमैप के बारे में जानिए कितने तरह का साइटमैप होता है और यह भी जानिए कि आपके लिए कौन साइटमैप बेस

दोस्तों आज इस ब्लॉक पर हम लोग बातें करेंगे इस टॉपिक के ऊपर कि कौन सा साइटमैप हम लोग की ब्लॉक के लिए सही रहती है. ज्यादातर बिजनेस लोग को यहां पर बहुत दिक्कत होती है और वह लोग समझ नहीं पाती है कि कौन से टाइप का साइटमैप अपने ब्लॉक के लिए इस्तेमाल करें. अपने देखे होंगे बहुत सारे वेबसाइट टीएमएल साइटमैप का इस्तेमाल करती है. उसी तरह कुछ वेबसाइट से जो कि एक्सएमएल साइटमैप का इस्तेमाल करती है. तो आज हम इसी विषय के ऊपर चर्चा करेंगे और आखिर में जानेंगे कि हम लोग को अपने वॉइस चैट के लिए कौन सा साइटमैप बनाना चाहिए और कौन सा चीज सही रहेगा. इससे पहले कि हम लोग तरह-तरह की साइटमैप्स के ऊपर बातें करें पहले हम लोग को यह जान लेना चाहिए कि sitemap होता क्या है .

Sitemap kya hota he

साइटमैप क्या चीज है, अपने अगर हाल ही में अपना नया ब्लॉक स्टेप किया है तो आपको शायद यह सुनने को मिलेगा कि आपको अपने ब्लॉक के लिए एक sitemap भी बनाना चाहिए. तो साइट मैप असल में आपकी वेबसाइट का एक ब्लूप्रिंट होता है. जोकि बताती है कि आपकी वेबसाइट में कितने पेज है और क्या पेज है. आप सभी को शायद पता होगा कि एक वेबसाइट बहुत सारे कोई पेज का संग्रह है. बहुत सारे वेबपेज मिलकर एक वेबसाइट को बनाती है. तो इसीलिए हम लोग को यह भी जानना जरूरी है कि एक वेबसाइट के अंदर कौन-कौन से वेबपेज है. और यह हम लोग को सिर्फ और सिर्फ उस वेबसाइट का साइटमैप से ही पता चलती है. क्योंकि वेबसाइट का sitemap पढ़ ही यह जानकारी रहती है कि उस वेबसाइट पर कौन-कौन से कैटेगरी पर जानकारी दिया हुआ है और क्या-क्या जानकारी दिया हुआ है. जो सिर्फ एक इंसान को ही नहीं बल्कि जो बड़े-बड़े सर्च इंजन है जैसे कि गूगल, विंग, याहू इत्यादि इन सभी को उस वेबसाइट के बारे में भी जानकारी प्रदान करती है .

Sitemap kyu zaruri he

एक वेबसाइट के लिए उसका sitemap बहुत ही जरूरी होता है. साइटमैप के बिना एक वेबसाइट बिल्कुल सामानों से भरा एक गोदाम के बराबर होता है, जहां पर गोदाम के मालिक को पता ही नहीं होता है कि उसके गोदाम पर आखिर क्या चीज है. अगर गोदाम के मालिक को ही पता नहीं होगा कि उसकी गोदाम में क्या चीज है तो वह अपने सामान को भेज भी नहीं सकता है. इसी तरह एक साइट मैप एक वेबसाइट की दर्शक को यह बताती है कि आप इस वेबसाइट को देख रहे हैं उनमें और क्या-क्या चीज आपको मिल सकता है. उसी तरह यह सर्चिंग जींस को भी बताती है कि इन वेबसाइट में कौन-कौन से विषय पर जानकारी दिया हुआ है. इससे सर्चिंग इनको पता चलती है कि इस वेबसाइट के अंदर इस विषय पर कुछ जानकारी है. तो अगर कोई इंसान उस विषय के ऊपर सर्च इंजिन पर कुछ सर्च कर दी है तो सर्च इंजन को यह पता होता है कि उसके पास उस विषय के जानकारी के लिए एक वेबसाइट मौजूद है. और अगर उस वेबसाइट का जानकारी अच्छा है तब सर्च इंजन उस जानकारी को अपने सर्च रिजल्ट पर दिखाती है. इसीलिए अगर आप भी चाहती है कि आप जिस विषयों पर अपनी वेबसाइट पर चर्चा करते हो, वह जानकारी सर्च इंजिन दुनिया की आदमी तक पहुंचा दे. तब आपको अपने वेबसाइट पर sitemap बनाना बहुत ही जरूरी हो जाता है.

Kitne tarah ki sitemap hota he

दोस्तों, sitemap दो तरह की होती है एक होता है XML साइटमैप और दूसरा होता है HTML साइटमैप. और बिगनल लोग यहां पर कंफ्यूज हो जाती है कि वह अपने ब्लॉक के लिए कौन सा साइटमैप को इस्तेमाल करें. तो दोस्तों मैं आपको यह बता दूं कि यह जो दोनों साइटमैप है यह दोनों साइटमैप दोनों अलग कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता है. तो चलो हम लोग थोड़ा इस दोनों साइटमैप के बारे में थोड़ा चर्चा कर लेते हैं.

HTML साइटमैप क्या है

दोस्तों HTML साइटमैप एक ऐसा साइड में होता है जोकि हाईपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज पर लिखा जाता है. जो कि एक इंसान समझ सकती है. क्योंकि इस तरीके से sitemap बनाने के बाद, अगर कोई इंसान उस साइटमैप को देखती है तो उसे बहुत आसानी से पता चल जाएगा, उस वेबसाइट में क्या-क्या जानकारी है. तो आपको समझ में आ गया होगा कि इस तरीके का साइटमैप सिर्फ और सिर्फ इंसान को समझाने के लिए बनाया जाता है. क्योंकि इस तरीके का साइटमैप दिखने में अच्छा लगता है, और समझने मैं भी आसान रहता है. इसीलिए इस तरीके का साइटमैप इंसान बहुत आसानी से समझ लेता है.

XML साइटमैप क्या है

दोस्तों XML साइटमैप सर्च इंजिन को समझाने के लिए बनाया जाता है. इस तरीके का साइटमैप अगर आप देखोगे तो आपको सिर्फ कुछ कोट्स देखने को मिलेगा. और इंसानों के लिए सब कोर्ट देखें यह समझना थोड़ा दिक्कत हो जाती है कि वेबसाइट में आखिर क्या चीज के बारे में जानकारी दिया हुआ है. तो इसीलिए एक्सएमएल साइटमैप को हम लोग बनाते हैं कि उससे हम शास्त्री जिनको बता सके कि हमारे ब्लॉक पर इन सभी विषयों में जानकारी प्रदान किया गया है. तो अगर आपसे कोई पूछता है इन सभी चीजों के बारे में तो आप हमारे वेबसाइट का जानकारी भी आपके विजिटर्स को प्रदान कर सकते हो. और एक ब्लॉगर के लिए सचिन जिनको अपने ब्लॉक के बारे में अपडेट करते रहना बहुत ही जरूरी होता है. इसीलिए हर एक वेबसाइट में आप XML साइटमैप तो जरूर देख पाओगे.

ब्लॉगर पर ATOM साइटमैप क्या है

दोस्तों ब्लॉगर एक बहुत पॉपुलर ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है. जो कि गूगल ने बनाया है. और जैसे कि हमने अभी जाना है कि एक वेबसाइट के लिए साइटमैप बहुत ही जरूरी होता है. तो इसी तरह ब्लॉगर के लिए भी उसका साइड में बहुत ही जरूरी होता है. लेकिन ब्लॉगर में भी हम लोग एक्सएमएल साइटमैप का ही इस्तेमाल करते हैं. लेकिन ब्लॉगर पर साइटमैप का फाइल ATOM.XML के नाम से सेव होता है. जो की वेबसाइट का एक्सएमएल साइटमैप के बराबर ही है. और यह सर्च इंजन को बताती है कि आपके ब्लॉगर साइट पर आपने कौन-कौन से विषय के बारे में जानकारी प्रदान किया है.

Atom साइटमैप कैसे बनाएं

ब्लॉक में आप atom साइड में बना सकते हो. इसके लिए आपको नीचे लिखा हुआ कोर्ट को अपने ब्लॉगर का robots.txt शिक्षण के अंदर डालना पड़ेगा. इसके बाद आपके लिए अलग से ब्लॉगर के अंदर atom.xml नाम का एक फाइल तैयार हो जाएगा. जो कि आप नहीं देख पाओगे . लेकिन अगर आप अपने वॉइस साइट पर साइट में खोलने की कोशिश करोगे तब आपके सामने एक नया साइटमैप ओपन हो जाएगा. जो कि एक xml साइटमैप होगा.

Sitemap: https://mysite.blogspot.com/atom.xml?redirect=false&start-index=1&max-results=500

आपको माय साइट को चेंज करके अपने ब्लॉगर की नाम को पेस्ट करना पड़ेगा. उसके बाद आप अपना साइटमैप देख सकते हो. साइट मैप देखने के लिए www.mysite.blogspot.com/sitemap.xml पड़ जाए वहां पर आपको अपना xml सेट मैप देखने को मिलेगा.