Blog ka URL kaise choose kare?

Blog ka URL kaise choose kare min

दोस्तों किसी भी एक ब्लॉग के लिए उसका यूआरएल, या तो उस ब्लॉग के डोमेन नाम बहुत ही ज्यादा महत्व रखता है. इसीलिए जब भी आप किसी भी ब्लॉक के डोमेन नाम को चुनने वाले हो तब आपको बहुत सारे चीजों को अपने ध्यान पर रखना पड़ता है. तो एक ब्लॉक के यूआरएल को चूस करने के लिए हम लोग को, उस ब्लॉग के विषय, उस ब्लॉक पर आने वाले दर्शकों के बारे में सबसे ज्यादा ध्यान देना पड़ता है. और सब यही नहीं, और भी बहुत सारे महत्वपूर्ण चीजों को हम लोग को अपने ध्यान पर रखना पड़ता है. और आज इस ब्लॉग पोस्ट में हम लोग इसी विषय के ऊपर पूरा चर्चा करने वाले हैं.


अगर आप हाल ही में अपने लिए एक ब्लॉग बनाने की सोच रहे हो, तो मुझे पूरा उम्मीद है इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ने के बाद आप अपने ब्लॉक के लिए एक बढ़िया सा domain नाम चुन सकते हो. जिससे आगे जाकर आपके ब्लॉक के साथ-साथ आपके दर्शकों का भी बहुत ज्यादा फायदा हो.

Blog URL और domain नाम क्या है

दोस्तों किसी भी एक ब्लॉक के लिए, उसका डोमेन नेम सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. क्यों कि आगे जाकर आपके ब्लॉक के दर्शकों इसी डोमेन नाम को इस्तेमाल करके आपके ब्लॉक पर आ पाएंगे. तो अगर आप एक अच्छा डोमेन नाम अपने ब्लॉक के लिए निर्धारित नहीं कर पा रहे हो तो यह सबसे ज्यादा आपके ब्लॉक के दर्शक को कहीं दिक्कत होगा.

तो दोस्तों जब आप किसी भी वेबसाइट या फिर ब्लॉक को ओपन करते हो, तब आप अपने ब्राउज़र के URL वाले बॉक्स के अंदर जो नाम लिखते हो उसको ही उस वेबसाइट का डोमेन नाम कहां जाता है. जैसे मान लो आपको मेरे ब्लॉक पर आना पड़ेगा, तब आप गूगल पर लिखोगे DEVELOPERTIRU.ME , और यही मेरे वेबसाइट का डोमेन नाम है. और अब देखना आप जो भी पोस्ट हमारे इस वेबसाइट से पढ़ रहे होंगे उससे पहले आपको यह डोमेन नाम देखने को मिलेगा. आपको हर किसी डोमेन नाम के सबसे आखिर में डॉट के दाएं और जो नाम देखने को मिलेगा उसको डोमेन एक्सटेंशन कहां जाता है. जैसे मेरे इस वेबसाइट के लिए अगर मैं बताउं, तो इस वेबसाइट का डोमेन एक्सटेंशन होगा .ME ,इसके बगल पर मतलब .ME के लेफ्ट साइड पर आपको जो नाम दिख रहा है उसे डोमेन नाम कहां जाता है. और इस डोमेन नाम और डोमेन एक्सटेंशन को मिला कर रूट डोमेन कहां जाता है. और यह पूरा एक रूट डोमेन नाम को आप को रजिस्टर करना पड़ता है. और यह हर एक वेबसाइट के लिए अलग-अलग होगा. मैंने नीचे एक तस्वीर दिया हूं आपको इस तस्वीर को देखकर इन सभी के बारे में बहुत अच्छी तरीके से जानकारी मिल जाएगा.

Blog URL और domain नाम क्या है
Blog URL और domain नाम क्या है

Blog URL और domain नाम महत्वपूर्ण क्यों है

दोस्तों मैंने तो अभी तक आपको यह तो बता ही दिया है कि किसी भी एक वेबसाइट या फिर ब्लॉक का डोमेन नाम उस ब्लॉग या फिर वेबसाइट का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है. क्योंकि आप उस ब्लॉग या फिर वेबसाइट के अंदर जितने सारे पोस्ट लिखेंगे उन सभी पोस्ट के URL के स्वाद में आपके वेबसाइट का डोमेन नाम रहेगा. ठीक जैसा एक इंसान का चेहरा उसका पहचान होता है. ठीक उसी तरह एक डोमेन नाम ही एक वेबसाइट का पहचान होता है. और यह हर किसी वेबसाइट के ओनर का कर्तव्य है कि वह अपने वेबसाइट की पहचान को अच्छा बनाएं. जिससे लोग उसकी वेबसाइट को आसानी से पहचान सके. अगर आपका डोमेन नाम छोटा होगा तो लोग को बोलने में भी वह आसान नहीं होगा, और जब कोई विजिटर आपके डोमेन नाम को अपने ब्राउज़र पर लिखेगा तब उसको भी बहुत आसानी होगा आपके वेबसाइट पर विजिट करना. इसी वजह से किसी भी एक वेबसाइट के डोमेन नाम के ऊपर उस औरत के बहुत सारे चीज से निर्भर करता है. और उस वेबसाइट का मूल्य क्या होगा वह भी उस वेबसाइट का डोमेन नाम के ऊपर ही निर्भर करता है.

Blog ka URL kaise choose kare

अभी तक तो आपको पता चली चुका होगा कि एक ब्लॉग या फिर वेबसाइट के लिए उसका डोमेन नाम कितना ज्यादा महत्व रखता है. तो इसीलिए यह हर एक वेबमास्टर का कर्तव्य होता है कि वह अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छा सा डोमेन नाम चुने.

आपके ब्लॉक के विषय

दोस्तों किसी भी एक Blog ka URL या तो उस ब्लॉक के डोमेन नाम को चुनने के लिए आपको यह ध्यान में रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है कि उस ब्लॉक पर आप कौन से चीज के बारे में ब्लॉक पोस्ट या फिर आर्टिकल लिखने वाले हो. अगर आप उन्हीं विषय के ऊपर एक अच्छा डोमेन नाम को अपने ब्लॉक के लिए चुनते हो तो वही सबसे ज्यादा अच्छा रहेगा. यह बहुत तरीके का हो सकता है जैसे अगर आपका ब्लॉक टेक्नोलॉजी के ऊपर है तो आप ऐसा डोमेन ले सकते हो जाए जिससे कि लोग को पता चल जाए कि यह ब्लॉक के अंदर सिर्फ टेक्नोलॉजी के ऊपर बातें होता है. या फिर आपके ब्लॉक ट्रैवल फूड या फिर खाना बनाने के बारे में भी हो सकता है. तब आपको जरूर ऐसा डोमेन नाम को चुनना पड़ेगा जिससे आपको विजिटर को एक झटके में पता चल जाए कि इस ब्लॉक के अंदर इसी विषय के ऊपर बातें चलता है.

पर्सनल ब्लॉग

दोस्तों मुझे पता है की पिछले वाले उदाहरण के बाद आप अब यह सोच रहे हो, कि मैंने तब अपनी वेबसाइट का नाम ऐसा क्यों रखा है. दोस्तों बहुत सारे पर्सनल वेबसाइट भी होता है, जहां पर किसी एक आदमी बस अपना ज्ञान को बांटते हैं दूसरों के साथ. और अपना अनुभव को दूसरों के साथ शेयर करके वह दूसरों का समस्या को भी हल कर देता है. ठीक जैसे मैं इस ब्लॉक पर अपना ब्लॉगिंग जाने का अनुभव आपके साथ शेयर करता हूं, जिसके दौरान आप जैसे शुरुआती ब्लॉगर का भी कुछ फायदा हो जाए. और आप भी कुछ नया सीख पाएंगे. तो इस तरीके से वेबसाइट पर आपको डोमेन नाम की जगह पर उस वेबसाइट के ओनर का नाम आपको देखने को मिलेगा क्योंकि उसने अपने ही नाम पर अपने वेबसाइट का डोमेन नाम को रजिस्टर किया होगा. जिस तरह मेरा निक नाम है तिरु, और मुझे सॉफ्टवेयर और वेबसाइट डेवलपमेंट बहुत अच्छा लगता है. इसलिए मैंने अपने वेबसाइट पर अपना नाम दिया है और क्योंकि मुझे डेवलपमेंट बहुत अच्छा लगता है इसलिए मैंने अपने वेबसाइट की डोमेन का नाम DEVELOPERTIRU.ME रखा है.

आपकी वेबसाइट के दर्शक

दोस्तों, अगर आप किसी एक निर्वाचित दर्शक के लिए ही अपना वेबसाइट को बना रहे हो तो आप अपने डोमेन नाम उन दर्शकों के लिए भी रख सकते हो, जिससे उन दर्शकों को बहुत आसानी से पता चल जाए कि इस वेबसाइट पर जितने सारे ब्लॉक पोस्ट लिखा हुआ है वह उन जैसे दर्शकों के लिए ही लिखा गया है. जैसे मेरा वेबसाइट का दर्शक वही लोग हैं जिसको हिंदी समझ आती है. तो अगर किसी को हिंदी पढ़ना नहीं आएगा तो वह मेरा वेबसाइट पर लिखा हुआ कोई भी ब्लॉक पोस्ट को समझ नहीं पाएगा. तो इसी बात पर अगर मैं अपने वेबसाइट की डोमेन नाम पर हिंदी लगा देता तो, लोगों को समझने में आसानी होता कि इन वेबसाइट पर जितने सारे ब्लॉक पोस्ट लिखा गया है वह सभी हिंदी पर लिखा गया है.

टॉप लेवल डोमेन ( TLD ) को ही रजिस्टर कीजिए

अगर आप अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट के लिए तो मन खरीदने वाले हो तो हमेशा टॉप लेवल डोमेन को ही चुने. क्योंकि एक टॉप लेवल डोमेन ही हमेशा गूगल के सर्च रिजल्ट पर अच्छे पोजीशन पर रहती है. अब जिसे भी प्लेटफार्म से अपने डोमेन को रजिस्टर करने वाले हो वहां पर हमेशा मुफ्त में मिलने वाले डोमेन नाम को ना लें. हमेशा किसी टॉप लेवल डोमेन को ही चुने. जैसे .COM , .NET , .ME, .ORG इत्यादि यह सभी एक टॉप लेवल डोमेन का उदाहरण है. और वैसे भी आपको हर एक देश के लिए अपना अपना एक टॉप लेवल डोमेन देखने को मिलेगा. जैसे की हमारे भारत के लिए है .IN डोमेन नाम, इसी तरह बाकी देशों के लिए भी अलग अलग टॉप लेवल डोमेन नाम निर्धारण किया गया है.

3 शब्दों वाला नाम चुने

दोस्तों अगर आप अपने लिए डोमेन नाम निर्वाचित करने जा रहे हो तो हमेशा यह ध्यान में रखना आपका डोमेन नाम 3 शब्द से अधिक ना हो. इससे आपका डोमेन नाम देखने में बहुत ज्यादा बड़ा लगेगा. और लोगों को अपने ब्राउज़र पर आपका डोमेन नेम टाइप करने में भी तब दिक्कत होगा, क्योंकि आपका डोमेन नेम बहुत बड़ा है और उसको टाइप करने में भी बहुत समय लग जाएगा. तो इसलिए अगर हो सके 3 सबसे अधिक नाम अपने डोमेन नाम के लिए निर्वाचित ना करें.

बोलने में आसानी हो

दोस्तों आपको कभी भी ऐसा डोमेन नाम नहीं चुनना चाहिए जिस डोमन नाम को बोलने में भी बहुत ज्यादा दिक्कत हो. इससे क्या होगा कि आपके वेबसाइट के नाम बहुत से लोग अलग अलग करके पुकार एंगे, और आखिर में आपका डोमेन नाम को सही से कोई नहीं पुकार पाएगा. तो इसीलिए जब आप अपने लेख किसी भी एक डोमेन नाम को चुन रहे हो तो हमेशा ध्यान में रखना कि लोग उस डोमेन नाम को आसानी से पुकार सके. और सिर्फ एक बार सुनकर ही वह आदमी उस डोमेन नाम को प्रोनाउंस कर सके और उसको सही से लिख भी सके. क्योंकि ऐसा बहुत बार होगा कि आप अपने दोस्तों को या फिर आपके कोई दर्शक किसी और को आपके वेबसाइट के बारे में बताएगा लेकिन इसी दौरान अगर वह दूसरा आदमी आपके वेबसाइट के नाम को अच्छी तरीके से समझ ना सके तो वह आखिर में जाकर किसी और डोमेन नाम को अपने ब्राउज़र पर टाइप करेगा. इससे वह आदमी कभी भी आपकी वेबसाइट पर पहुंच नहीं पायेगा. और इसका मुख्य कारण यही है कि आपका वेबसाइट का नाम अच्छे से समझ जा नहीं जा रहा है.

याद करने में आसानी हो

दोस्तों कोशिश करना हमेशा ऐसा डोमेन नाम को चुनने के लिए जो डोमेन नाम एक बार सुनकर ही लोग को आसानी से याद हो जाए. जिससे वह अभी भी आपके बारे में याद करने की कोशिश करें वह आपके डोमेन नाम को जल्दी से याद कर ले. और उसे कभी भी भूले ना. इससे आपके दर्शकों हमेशा आपके साथ पर आना ही पसंद करेगा, क्योंकि आपके वेबसाइट का नाम उसको याद है. और अगर उन लोग को अब तो एक साइड के विषय के बारे में कुछ जानकारी चाहिए होगा तो वह हमेशा आपके वेबसाइट पर ही आएगा.

अगर आपको डोमेन नाम के बारे में और भी सगा जानना है तो आप हमारे वेबसाइट के ब्लॉगिंग श्रेणी को देख सकते हो यहां पर आपको ब्लॉगिंग के बारे में और भी ज्यादा जानकारी मिलेगा. और सिर्फ यही नहीं अगर आपको ब्लॉक के डोमेन नाम और यूआरएल के बारे में और भी साला जानना है तो आप बस हम लोगों के वेबसाइट के साथ बटन पर BLOG URL लिखकर इनके बारे में जितने सारे पोस्ट लिखा गया है उन सभी के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हो.

जनप्रिय वेबसाइट के साथ मिलता ना हो

यह आपको हमेशा ध्यान में रखना चाहिए कि आप जब भी किसी डोमेन नाम को रजिस्टर कर रहे हो तब वह डोमेन नाम किसी भी जाना पर वेबसाइट के डोमेन नाम के साथ मिलता ना हो. इससे उस जनकपुर वेबसाइट के दशक आपके वेबसाइट को उस जनक की वेबसाइट की डुप्लीकेट वेबसाइट के नाम पर घोषित कर देगा. और शायद जहां पर अपने किसी भी ब्लॉग पोस्ट को उस वेबसाइट से शायद ही कॉपी नहीं किए होंगे. हो सकता है कि आपके वेबसाइट और उसकी वेबसाइट में कोई भी समानता नहीं है, दोनों का विषय ही अलग हो. लेकिन क्योंकि आप दोनों का सिर्फ डोमेन नाम ही काफी सादा मिलता है इसीलिए बहुत सारे दर्शक को आपके वेबसाइट को उस जनकपुर वेबसाइट का एक कॉपी वेबसाइट बता देगा.

कुछ समय के लिए सोचें

दोस्तों हमेशा किसी भी डोमेन नाम को रजिस्टर करने से पहले थोड़ा सोच है उसके बारे में, क्योंकि वही आगे जाकर यह निर्धारित करेगा कि आपके वेबसाइट जनप्रिय होगा कि नहीं. मैं मानता हूं इसमें सबसे अधिक महत्व रखता है आपके वेबसाइट में लिखे जाने वाले कॉन्टेंट. लेकिन एक डोमेन नाम भी उतना ही ज्यादा महत्वपूर्ण है जितना कि उस वेबसाइट पर लिखे जाने वाले ब्लॉग पोस्ट.

अंतिम निर्णय

मुझे उम्मीद है आपको इस ब्लॉग पोस्ट से काफी कुछ सीखने को मिला होगा. आपको यह जानने को मिल चुका होगा कि कैसे आप अपने ब्लॉक के लिए एक अच्छा डोमेन नाम को चुन सके. जिससे आगे जाकर आपको किसी भी तरीके का दिक्कत का सामना करना ना पड़े. अगर आपको कोई भी जानकारी और भी चाहिए तो आप बेझिझक इस ब्लॉग पोस्ट के नीचे अपना कमेंट डाल सकते हो. मैं जितना जल्दी हो सके आपके सवालों का जवाब देने का कोशिश करूंगा.

1 thought on “Blog ka URL kaise choose kare?”

  1. Sir mera blog nhi bn rha hai domain name wale section se aage nhi ho rha hai mai preshan Ho gai hu kaise kru plz help me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *